बंद करे

    स्थान / केंद्र

    मोटी दमण किला

    मोटी दमण किले का निर्माण 1559 ई. में शुरू हुआ और 1581 ई. में इसे अंतिम रूप दिया गया, जब…

    देखें विवरण

    बोकेज सदन– मोटी दमण किला (कविकार का घर)

    कम प्रचारित होने और जागरूकता के अभाव के कारण बोकेज सदन (द पोएट हाउस) अक्सर पर्यटकों की नजर से चूक…

    देखें विवरण

    नानी दमण जेट्टी

    दमण गंगा नदी के तट पर अवस्थित, दमण जिले के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है, नानी दमण…

    देखें विवरण

    डोमिनिकन मोनास्ट्री, मोटी दमण

    मोटी दमण के किले में स्थित डोमिनिकन मठ अक्सर खंडहरित चर्च के रूप में जाना जाता है। अधिकांश पर्यटक कौतूहल…

    देखें विवरण

    बॉम जीसस चर्च, मोटी दमण

    वर्ष 1559 में स्थापित और वर्ष 1603 में संस्कारित, बॉम जीसस चर्च पुर्तगालियों की शानदार इंजीनियरिंग कलात्मकता का एक उत्कृष्ट…

    देखें विवरण

    सेंट जेरोम का किला, दमण

    दमण को 1531 में पुर्तगालियों द्वारा इसके गुजराती शासक से लिया गया था, लेकिन 1559 में ही गुजरात के सुल्तान…

    देखें विवरण

    जम्पोर बीच

    जाम्पोर समुद्र तट दमण का एक प्रमुख आकर्षण केंद्र है। यह मोटी दमण जेट्टी से मात्र 5 किलोमीटर की दूरी…

    देखें विवरण

    देवका बीच

    देवका समुद्र तट विशुद्ध सौंदर्य का नजारा है। दमण के कई अन्य समुद्र तटों की तरह, यह भी एक विशाल,…

    देखें विवरण

    लाइटहाउस बीच

    मोटी दमण जेट्टी से जम्पोर बीच तक विस्तारित नवनिर्मित समुद्र तट के सामने की सड़क “राम सेतु” के माध्यम से…

    देखें विवरण

    अवर लेडी ऑफ़ रेमेडीज चर्च

    लाइटहाउस बीच से दक्षिण की ओर 15 मिनट पैदल चलें और अवर लेडी ऑफ़ रेमेडीज चर्च पहुँचने के लिए योगेश्वर…

    देखें विवरण

    अवर लेडी ऑफ़ द सी चर्च

    यह चर्च सेंट जेरोम के किले में अवस्थित है। यह एक अतिप्राचीन चैपल का विस्तार है, जिसका निर्माण वर्ष 1627…

    देखें विवरण

    मोटी दमण जेट्टी

    दूसरे प्रवेश द्वार से किले से बाहर निकलें और मोटी दमण जेट्टी पर पहुंचें, जहां आप डॉक पर आराम कर…

    देखें विवरण